अपना बिजनेस कैसे शुरू करे? How To Start a Business In Hindi 2018


बिजनेस कैसे शुरू करे?आज के समय में बढती बेरोज़गारी और नौकरी की कमी के कारण अधिक संख्या में लोग खुद के बिजनेस की तरफ रुख कर रहे हैं, कोई छोटा मोटा बिजनेस करने की सोचता है तो कोई बड़ा व्यवसाय करने की सोचता है। लेकिन इस क्षेत्र की अधिक जानकारी न हो पाने के कारण बहुत से लोग इस सोच में पड़ जाते हैं की आखिर खुद का बिजनेस कैसे शुरू करे? और सबसे अधिक महत्वपूर्ण बात तो ये है की बिना किसी जानकारी के बिजनेस शुरू करना आगे चलकर बहुत से जोखिमों से भरा हो सकता है। इसलिए आज की इस पोस्ट में मैं आपको बताऊंगा खुद का बिजनेस शुरू करने से सम्बंधित कुछ महत्वपूर्ण steps और जानकारी जो आपको अपना  व्यवसाय स्थापित करने में कुछ हद तक मदद जरूर करेंगी।

business kaise shuru kare

-: अपना बिजनेस कैसे शुरू करे? How To Start a Business In Hindi

#1. एक बेहतर बिजनेस का चयन करना। 

एक बेहतर बिजनेस चयन करने का मतलब ऐसे काम से है जिसमे आपका पूरी तरह से Interest हो और जिसे करने में आपको कोई परेशानी न हो। इसलिए सबसे पहले तो आप अपने skill, experience और passion पर focus करे और इन्ही तीनों के आधार पर एक बेहतर व्यवसाय को चुने। इसके अलावा आपको अपनी Financial Condition को भी ध्यान में रखना होगा ताकि आगे चलकर आपको किसी भी तरह से पैसों की तंगी का सामना न करना पड़े। पिछली पोस्ट में मैंने कुछ कम खर्च वाले बिजनेस की जानकारी दी जिसे आपको जरूर देखना चाहिए।

#2. एक Business Plan और Material तैयार करना। 

1. बिजनेस शुरू करने की श्रंखला में सबसे महत्वपूर्ण और पहला कदम है अपने Business, Products,Services या सेवाओं को परिभाषित(Define) करने के लिए एक बिजनेस plan तैयार करना और अपने लक्ष्यों(Goals), Operating Procedure और Competition की एक रूप रेखा तैयार करना. यानिकी जो व्यवसाय आप शुरू करने वाले हैं उसका लक्ष्य, उसको चलाने की पूरी प्रक्रिया, और market में उस बिजनेस का कितना Competition है, इन सभी बातों को ध्यान में रखते हुए एक रूपरेखा या Plan तैयार करना।

Business plan तैयार करने का दूसरा मुख्य कारण है ये है की अगर आपके व्यवसाय या कंपनी को किसी भी तरह के traditional Loan या बैंक से  Fund/पैसों की जरूरत है तो इसके लिए आपके पास आपका business plan होना जरूरी है। ठीक जिस तरह एक Home Loan के लिए घर का नक्शा जरूरी होता है।  एक बात और सुनिश्चित करें कि आपकी योजना में Marketing strategy भी शामिल हो, ताकि लोगों को पता चल सके की आप क्या बेच रहे हैं और आपको कैसे ढूँढा जाये।

2. एक business logo, cards, Holdings आदि बनाएँ। ये सभी आइटम आपकी कंपनी की पहचान स्थापित करने में एक अहम भूमिका निभाते हैं और संभावित ग्राहकों को आपके व्यापार को  ढूंढने और याद रखने में आपकी सहायता करते हैं।


#3. Incorporation

Business entity registration या Incorporation यानिकी व्यापार इकाई का निर्णय करना और चुनना है. भारत में व्यवसाय शुरू करने का पहला कदम एक व्यापार इकाई का निर्णय लेना और चुनना है। एक व्यापार इकाई का चयन करना एक यात्रा के लिए वाहन चुनने जैसा है । इसलिए सबसे पहले आपको अपने व्यवसाय को Private Limited Company या Partnership firm या Limited Liability partnership(LLP) में सम्मिलित करना होगा।

आपको किसी भी व्यवसाय के पंजीकरण या Incorporation के लिए सभी सामान्य प्रक्रियाओं का पालन करना होगा जैसे कि partnership registration, PAN और अन्य आवश्यक अनुपालन प्रमाणपत्र प्राप्त करना।
Note- अधिक जानकारी के इन्टरनेट की सहायता लें।

#4. Bank Account खोलना। 

Business Finances और Personal Finance को अलग(Seperate) रखने के लिए एक Business bank account जरूरी होता है। जिसके माध्यम से आप अपने व्यापार के funds को seperate रख सकते हैं।  Business bank account खोलने के लिए आपको कुछ जरूरी दस्तावेजों जैसे की Identity Proofs,Pan card, Entity Registration certificate, आदि की जरूरत पड़ेगी।

यदि आपको अपने व्यापार को शुरू करने या फिर किसी भी तरह के Equipmnet को खरीदने के लिए bank loan की आवश्यकता पड़ने वाली है तो बेहतर होगा की किसी Nationalized Bank में account खोलें क्युकी privatized  बैंकों की तुलना में, Nationalized बैंक startup के लिए bank loan प्रदान करने के पक्ष में अधिक होते हैं।

#5. Tax Registration

Business या Customer requirments द्वारा प्रस्तावित गतिविधि के प्रकार के आधार पर, व्यवसाय के लिए विभिन्न Tax registration की आवश्यकता हो सकती है, जोकि निम्नानुसार है:
  1. VAT Registration -: Vat registration या TIN number किसी भी व्यक्ति या entity के लिए जरूरी है।  यदि business में Sales, Goods, या किसी भी तरह के product की बिक्री शामिल है तो VAT regsitration या TIN number जरूरी है।  इसके अलावा flipkart और snapdeal में seller बनने के लिए भी Vat या Tin नंबर की जरूरत होती है। 
  2. Service Tax Registration -: Service tax Registration उन सभी व्यवसायों के लिए Required है जो किसी भी तरह की service प्रदान करते हैं और जिनकी Annual billing 9 लाख रूपए से ज्यादा है। 
  3. TAN Registration -: Tax Deduction के लिए TAN Registration की आवश्यकता होती है. इसके अलावा employees को hire करने या किसी Customer के साथ deal करते समय भी आपको TAN registration की आवश्यकता हो सकती है। 
  4. ESI Registration -: ESI Registration की जरूरत आपको तब पड़ेगी जब आपके व्यवसाय में 20 या 20 से अधिक employee शामिल  हो जाएँ। 


#6. अपने व्यवसाय के लिए कार्यक्षेत्र तैयार करें।

अपने व्यवसाय के लिए एक बेहतर कार्यक्षेत्र का निर्णय करना भी बेहद जरूरी है.अगर आप अपने घर पर ही बिजनेस शुरू करने वाले हैं तो ये सुनिश्चित कर लें की आप अपने क्षेत्र के लिए City Zoning की सभी Requirements को पूरा कर रहे हैं .इसके अलावा जिस भी तरह का व्यवसाय आप करने जा रहे हैं उसके लिए एक बेहतर कार्यक्षेत्र चुनना बहुत जरूरी है जैसे की किसी shop या store के लिए market के आस पास का क्षेत्र, किसी बड़ी industry के लिए शहर से दूर का क्षेत्र आदि।

Final Conclusion -: दोस्तों में ये तो नहीं कहूँगा की सिर्फ इन steps की मदद से ही आप खुदका बिजनेस शुरू कर सकते हैं लेकिन ये सभी  आपके Basic knowledge को clear जरूर करेंगे और इनसे आपको एक idea मिल जायेगा की मुझे आगे क्या करना है.मैंने आपको सिर्फ main Topics बताये हैं अब आपको इन topics को Expand करना होगा  और इनके बारे में और अधिक जानना होगा तभी आप आसानी से business शुरू कर पाएंगे।

मैं उम्मीद करता हूँ की अब आप जान चुके होंगे की बिजनेस कैसे शुरू करे ?How to Start a Buisiness In Hindi और यह भी उम्मीद करता हूँ की आपको पोस्ट पसंद आई होगी.यदि आपका  पोस्ट या किसी भी topic से सम्बंधित कोई भी सवाल हो तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते हैं और अगर आपको हमारी पोस्ट पसंद आई हो तो Post को share करना मत भूलियेगा।


EmoticonEmoticon