ईमेल क्या है ? What is email in Hindi


क्या आप जानते हैं कि Email kya hai?What is email in Hindi कुछ दशकों पहले तक एक जगह से दुसरीं जगह तक किसी संदेश को पहुंचाने के लिए महीनों लग जाते थे क्योंकि उस समय मे किसी संदेश के आदान प्रदान के लिए पोस्ट या डाक ही एकमात्र option था। लेकिन आज के Modern जमाने और Modern Technology की बदौलत सैकड़ों काम कुछ चंद मिनटों में पूरे हो जाते हैं। इसी Modern Technology में शामिल है Email या Electronic mail जिसकी मदद से आज किसी भी Mail या सन्देश को बिना किसी डाक या पोस्ट के द्वारा भी अपने Phone या

Computer से ही दुनिया के किसी भी कोने में भेज सकते हैं और ख़ास बात ये है की डाक या Post की तरह किसी mail को भेजने के लिए आपको महीनों तक इंतज़ार नहीं करना पड़ता क्यूंकि ईमेल के द्वारा आप कुछ ही सेकंड में किसी भी तरह की मेल, documents, files, Media को दुनिया के किसी भी कोने में भेज सकते हैं। आज की पोस्ट में मैं आपको इस टेक्नोलॉजी के बारे में विस्तार से बताऊंगा की ईमेल क्या है? ये किस तरह से कार्य करती है? और ये कैसे बनी आदि.

email kya hai

-: Email kya hai? What is email in Hindi


#1. Email kya hai और इसकी शुरुआत कब हुई थी ?

email या e-mail का पूरा नाम electronic mail है, "email किसी भी computer या mobile में संगृहीत(Stored) ऐसीं information होती है जिसका आदान प्रदान दो user के बीच में telecommunication के माध्यम से किया जाता है "। एक सरल भाषा में कहें तो ईमेल एक message है जिसमे text, files, images और अन्य attachment शामिल होते हैं' जिसे एक network के द्वारा किसी एक व्यक्ति या बहुत सारे व्यक्तियों के ग्रुप को भेजा जाता है। आज के समय में अधिकतर लोग, व्यवसाय और कंपनियां एक दुसरे से communication के लिए ईमेल का ही इस्तेमाल करते हैं।

सबसे पहली email 1971 में Ray Tomlinson ने भेजी थी। Tomlinson ने test email message के तौर पर वह ईमेल खुद को भेजी थी जिसमे कुछ text " Something like QWERTYUIOP." शामिल थे। इसके बाद 1996 तक postal mail की तुलना मे सबसे ज्यादा electronic mail भेजे जाने लगे थे।

#3. Email address या e-mail id क्या होती है?

सामान्यतः email address या id आपके ईमेल का पता होता है जिसके द्वारा आप किसी दुसरे व्यक्ति को mail भेज सकते हैं या फिर किसी दुसरे व्यक्ति से mail प्राप्त कर सकते हैं। एक email id कुछ इस तरह की होती है-"
example12@gmail.com, example@companyname.com.
  • किसी भी email address का पहला portion या @ से पहले वाला भाग user, group या company का नाम होता है। 
  • इसके बाद सभी email address में एक divider के तौर पर @ का उपयोग किया जाता है। Starting से ये सभी तरह के SMTP email address में use किया जाता है। 
  • @ के बाद अंत में Company के domain name का use किया जाता है। अगर आप किसी free email provider का उपयोग कर रहे हैं तो आपके email address के अंत में उसी कंपनी का domain name लिखा जायेगा जैसे की- username@gmail.com, username@hotmail.com आदि। 


#3. Email का आदान प्रदान(Send and Recieve) कैसे किया जाता है ?

एक email को भेजना और recieve करने के do तरीके हैं जिनमे से दूसरा वाला तरीका आज के समय में सबसे अधिक उपयोग किया जाता है।

1. E-mail Program
ई-मेल message को भेजने और प्राप्त करने के लिए, आप एक email program का उपयोग कर सकते हैं, जिसे email client, जैसे कि Microsoft outlook या Mozila thunderbird भी कहा जाता है। email client का उपयोग करते समय, आपके पास एक ऐसा server होना चाहिए जो आपके messages को Store और वितरित(Deliver) कर सके, यह server आपके ISP (Internet service provider) के द्वारा या किसी अन्य कंपनी के द्वारा provide की जाती है। एक email client को नए ईमेल डाउनलोड करने के लिए server से connect करने की आवश्यकता पड़ती है।

2. E-mail online
जैसा की मैं पहले बता चूका हूँ की ई-मेल भेजने और प्राप्त करने का ये  तरीका आज के समय में अत्यधिक लोकप्रिय हो चुका है और इसे email online या webmail भी कहते हैं जैसे की Gmail, yahoo mail, Outlook आदि। इनमे से बहुत सी email service बिलकुल मुफ्त हैं,  बस हमें एक account बनाने की जरूरत होती है और account बन जाने के बाद हम अपने computer या mobile से अपने account को access करके emails भेज  सकते हैं और प्राप्त कर सकते हैं।

#4. Email कैसे लिखते हैं ?

सभी ईमेल services के कुछ common features होते हैं जो की समान होते हैं। एक email लिखते समय निम्न fields required होते हैं।

1. To-: वह जगह है जहां आप उस व्यक्ति का ई-मेल address टाइप करते हैं जिसे message भेजना है या  जो आपके message को recieve करेगा।

2. From -: इस field में आपको अपना email address डालना होता है।

3. Subject -: इस field में आपको email का मुख्य topic लिखना होता है ताकि जिसे आप mail भेज रहे हैं उसे यह पता चल सके की ईमेल किस बारे में है। ये एक Optional field है।

email kya hai


4. Compose email या Message Body -: अंत में, compose email या message body वह स्थान है जहां आप अपना मुख्य message टाइप करते हैं। message टाइप करने के अलावा आप यहाँ पर कोई attachment जैसे की image, video , document भी add कर सकते हैं।

#5. E-mail के कुछ मुख्य फायदे?


ई-मेल के बहुत सारे फायदे हैं और postal mail की तुलना में  ई-मेल को use करने के भी कुछ फायदे हैं। कुछ मुख्य फायदे नीचे सूचीबद्ध हैं।

1. Free Delivery - Internet service और data usage को छोड़कर एक ई-मेल भेजना लगभग मुफ्त है। Postmail की तरह यहाँ पर stamp या टिकट खरीदने की कोई जरूरत नहीं है।

2. Global Delivery- हम किसी भी देश में या दुनिया भर में कहीं भी ई-मेल को भेज सकते हैं।

3. Instant Delivery - इन्टरनेट पर एक ईमेल को तुरंत भेजा जा सकता है और प्राप्तकर्ता (Recipient) द्वारा तुरंत प्राप्त(recieve) भी किया जा सकता है।

4. File attachment - एक email  में एक या उससे अधिक files को attach किया जा सकता है,यानिकी की email के साथ हम image, video, text files, audio files और अन्य documents भी भेज सकते हैं।

5. Long term Storage - ई-मेल इलेक्ट्रॉनिक रूप से stored होते हैं, यानिकी हम किसी भी email या file को लम्बे समय तक store करके रख सकते हैं।

6. पर्यावरणीय रूप से अनुकूल - एक email भेजने के लिए हमें किसी भी paper, packing tap, cardboard आदि की जरूरत नहीं पड़ती। इसलिए देखा जाये तो ये एक तरह से पर्यावरण को भी नुक्सान नहीं पहुंचाता।

#6. E-mail के द्वारा क्या-क्या भेज सकते हैं?

एक ईमेल में text message के साथ साथ हम अनेक प्रकार की files को भेज सकते हैं जैसे Pdf, images, movie, audio, video आदि। लेकिन कुछ security issue की वजह से बहुत सी  files को भेजना थोडा मुश्किल होता है। जैसे की बहुत सी कंपनियां .exe files को allow नहीं करती इसलिए सबसे पहले इन files को  .zip में compress करना पड़ता है।

इसके अलावा कुछ mail providers के file size को लेकर कुछ restrictions होते हैं जिनके कारण बड़ी size की files को email के द्वारा नहीं भेज सकते।

#7. एक Valid email की कुछ अन्य ख़ास बातें?

  • जैसा की में पहले ही बता चूका हूँ की किसी भी ईमेल address में username जरूर होता है जिसे @ से पहले लिखा जाता है। 
  • किसी भी email में username 64 characters से लम्बा और domain name 254 characters से लम्बा नहीं हो सकता है। 
  • Email address में सिर्फ एक ही @ का sign होना चाहिए। 
  • किसी भी ईमेल address के शुरू और अंत में Dot या Full stop ( . ) नहीं लगाया जा सकता। 

#. Conclusion

मुझे उम्मीद है की आपको पोस्ट पसंद आई होगी। अगर वाकई में आपको हमारी पोस्ट "Email kya hai" पसंद आई है तो थोडा समय निकालकर इस पोस्ट को share करना न भूलें।  अगर आप आगे भी हमसे इसी तरह की जानकारियां चाहते हैं तो अभी हमारी website को bookmark करके save कर लीजिये।  अगर आपके पास कोई भी सवाल या सुझाव हो तो आप हमें कमेंट के माध्यम से बता सकते हैं।


EmoticonEmoticon