बिटकॉइन क्या है और बिटकॉइन कैसे काम करता है - पूरी जानकारी हिंदी में



बिटकॉइन क्या है और ये कैसे काम करता है -:
बहुत से लोगो को अभी तक बिटकॉइन के बारे में नहीं पता और बहुत सारे लोग ऐसे भी है जो अक्सर Internet पर बिटकॉइन के बारे में जानकारी ढूंडते रहते हैं.इसीलिए उन लोगो की मदद करने के लिए आज में इसके बारे में ये आर्टिकल लिख रहा हूँ.
तो चलिए हम बात करते है Bitcoin की और जानते हैं की बिटकॉइन क्या  है और ये कैसे काम करता है .


Credit Card Kya Hai? Credit Card Ke fayde

बिटकॉइन क्या है

--:बिटकॉइन्स क्या है - Bitcoin kya Hai

#1. बिटकॉइन  क्या है ?

बिटकॉइन एक वास्तविक मुद्रा(virtual Currency ) या फिर इसे Digital currency भी कह सकते हैं,को 2009 में एक अज्ञात कंप्यूटर विशेषज्ञ satoshi nakamoto के द्वारा बनाया गया था. सभी बिटकोइंस एक गणितीय प्रक्रिया (mathmatical Puzzel) से प्राप्त किये जाते हैं. बिटकॉइन की कीमत आज हर दिन बढती ही जा रही है और आज के दिन 1 बिटकॉइन की कीमत लगभग $9,992(6 लाख रूपए ) है .

Bitcoin की ख़ास बात ये है की किसी भी सरकार या बैंक का इस पर कोई भी अधिकार, Control  नहीं होता और न ही कोई नियंत्रण होता है.लेकिन इसका मतलब ये नहीं की ये असुरक्षित(unsafe ) है क्यूकि Bitcoin की  पूरी प्रक्रिया एक  ब्लाक चैन टेक्नोलॉजी(Blockchain  Technology )  में की जाती है जोकि सुरक्षा और शुद्धता(Secure  and  Accurate ) के मामले में बहुत ही popular टेक्नोलॉजी है.



#2. बिटकॉइन कैसे बना ?

जिस समय Credit Card, NetBanking का चलन शुरू हुआ था उसी समय कुछ लोग esi मुद्रा(बिटकॉइन ) बनाना चाहते थे जिसका उपयोग उन सभी जगह पर किया जा सके जहाँ पर नकद (Cash) का उपयोग किया जाता हो ताकि कोई  भी व्यक्ति अपनी जेब में ढेर सारा पैसे रखने के बजाय अपने बिटकॉइन Wallet से ही भुगतान(Payment) कर सके.कोई भी व्यक्ति बिटकॉइन को अपनी मुद्रा ( Euro, Dollar, INR) में खरीद सकता है.

लेकिन इस सब से अलग Sathoshi Nakamoto एक एसी प्रणाली(System) बनाना चाहते थे जिसके अन्तर्गत bitcoin पर किसी भी बैंक और सरकार का नियंत्रण और अधिकार न हो.इसलिए इस तरह की प्रणाली को बनाने के लिए उन्होंने एक  News Publish(प्रकाशित) की जिसमे उन्होंने Developers से बिटकॉइन को विकशित(Developmet) करने की मदद मांगी.

किसी दुसरे Open Source software की तरह ,Developers बिटकॉइन को update करते रहते थे और पूरी दुनिया में लाखो Developers ने बिटकॉइन के कोड्स को Develop  करके उसे और भी ज्यादा सुरक्षित और आसान  बना दिया था.

सभी banks के अपने खुद के Servers होते हैं जिन्हें वो अलग अलग जगह पर Maintain कर के रखते हैं और इसी के कारण बैंक और Bank Account के Hack होने के Chances ज्यादा बने रहते है. जबकि बिटकॉइन के server को  पूरी दुनिया में लाखो Computers के द्वारा  maintain किया जाता है और in Computer के Owners हम जैसे आम लोग होते हैं जिन्हें Miners कहा जाता है.इन सभी Computer के पास बहीखाता(ledger) की एक Copy होती है, Ledgerका काम बिटकॉइन Chain में हुए सभी Transaction को record करने का होता है, इसीलिए bitcoin को हैक करना बहुत ही मुश्किल भरा काम  होता है अगर कोई व्यक्ति इसे हैक करना चाहे तो सबसे पहले उसे इन सभी Computers को hack करना होगा.


Google Opinion Reward Se Har Din $1 tak kamaye

#3. Bitcoins का उपयोग कहाँ पर होता है ?

बिटकॉइन का  उपयोग ऑनलाइन लेनदेन(Transactions),व्यापार, Online खरीददारी के लिए कर सकते हैं.बिटकॉइन का लेन देन आप किसी ThirdParty के बिना ही कर सकते हैं और आप चाहे तो अपनी पहचान भी छुपा कर रख सकते हैं.जैसे जैसे bitcoin का चलन बढ़ता जा रहा है तो विदेशो में बहुत से Business इसे अपनाने लगे है और बहुत से देशों में इसे कानूनी (Legal) घोषित किया जा चूका है.

Whatsapp Se Paise kamane Ke Ashan Tarike

#4. Bitcoin Wallets क्या है ?

जिस तरह से पैसे के लिए Banks होते हैं उसी तरह बिटकॉइन के लिए भी बहुत से Online Wallets मोजूद है जहाँ पर आप बिटकॉइन का लेन देन कर सकते हैं और अपने bitcoin को सुरक्षित रख सकते हैं.
आप चाहें तो किसी भी Online Exchange Website(CoinSecure, Unocoin, Zebpay, Bitcoins Atm etc.) से भी इसे खरीद सकते हैं .
बिटकॉइन किसी सिक्के या नोट की तरह छपे नहीं होते बल्कि ये एक एसी मुद्रा(Currency) है जो Computer And Online ही Business करती है.
भारत में भी बहुत से bitcoin Wallets हैं जहाँ पर आप इनका  का Use कर सकते हैं .

Affilaite Marketing Se Har Mahine Lakho Rupay kamaye

-India Ke Best Bitcoin Wallets-

#. Unocoin-: Unocoin भारत की ही एक bitcoin कंपनी है ,इसे 2013 में बेंगलोर में Launch किया गया था, किसी भी प्रकार के Transaction में ये सिर्फ  0.7% से 1% तक Transaction Fee लेते हैं.यहाँ पर रजिस्ट्रेशन करने के लिए आपको 24-48 तक wait करना पड़ सकता है.

≻ पेटीएम क्या है- How To Use Paytm In Hindi
≻ Jio Coin Kya  है इसे कैसे ख़रीदे।
#. CoinSecure-: इसे 2014 में Delhi में शुरू किया गया था यहाँ पर आपको हर Transaction के लिए 0.3% तक शुल्क देना होगा, इनकी सभी Services UnoCoin की तरह ही है.

#. Zebpay-:  Zebpay, Singapore Based कंपनी है और इसे 2015 में शुरू किया गया था.यहाँ पर आपको किसी भी Withdraw के लिए 10Rs देने होंगे और bitcoins Transfer करने के लिए आपको 0.001 BTC देने होंगे.यहाँ पर आपको Registration के लिए ज्यादा इंतज़ार नहीं करना होगा, आमतौर पर 1-2 घंटे में यहाँ पर Registration

#. BuyUcoin-: BuyUcoin को 2016 में delhiमें शुरू किया गया था.कंपनी के अनुसार किसी भी Transaction के लिए आपको कोई Fee नहीं देनी होती और 1-24 घंटे में आपका रजिस्ट्रेशन हो जाता है.


#5. बिटकॉइन्स  काम कैसे करते हैं ?

सभी मुद्राओं (Currencies) की तरह bitcoins की कीमत इसके लेन देन , Exchange, Countries की growth, और इसकी मांग(Demand) पर निर्भर करती है और उपर निचे होती रहती है.

जब भी आप Bitcoin wallet बनाते है तो आपको एक Public key और एक Private Key दी जाती है.
Private key की मदद से आप आपने Wallet से अपने Presonalलेनदेन, और Bitcoin को बेच सकते हैं जबकि Public Key जिसे Wallet Address भी कहा जाता है के द्वारा आप किसी दुसरे व्यक्ति के Public Key पर उसे bitcoins भेज सकते हैं.पब्लिक key एक email Id कि तरह ही काम करता है.

ये पूरी प्रक्रिया एक ब्लाक श्रंखला( Blockchain)के अन्तर्गत होती है और in सभी Transactions को Solve और Record करते हैं Bitcoin Miners. चलिए अब बात करते हैं की Bitcoin Miners और Mining क्या होती है.

Youtube Se Paise kaise kamaye.

#6. Bitcoin Mining क्या है ?

जैसा की मैंने पहले बताया था की पूरी दुनिया में लाखो ऐसे Computers हैं जो बिटकॉइन की पूरी प्रक्रिया को maintain करके रखते हैं.ये सभी लोग हमारी तरह आमलोग होते हैं जिन्हें Miners कहते हैं, अब ये काम कैसे करते हैं ये में आपको बताता हूँ -:

बिटकॉइन क्या है

Miners-: Miners वो लोग होते हैं जो विशेष और शक्तिशाली (Powerfull) Computers से बिटकॉइन के पुरे सिस्टम को maintain करके रखते हैं. जब भी bitcoin से कोई Transaction होता है तो उसकी Detail सभी Miners के पास चली जाती है ताकि वो उस Transaction को solve कर सकें .

हर 10 मिनट में एक Miner का Computer 100 अपूर्ण (pending) Transaction को जमा(collect) करता है और उन सभी को एक गणितीय पहेली (mathematical Puzzel) में बदल देता है. सामान्यतः Mining Computers किसी transaction की Detail, Amount, भेजने वाले का Address, Recieve करने वाले का Address, Private Key को collect करता है और in सभी को एक मुश्किल Puzzelमें बदल देता है.ऐसा करने से Private Key बिलकुल सुरक्षित रहती है और पूरी Transaction प्रक्रिया सुरक्षित रहती है.

इस प्रक्रिया के बाद सभी Mining Computers उस Puzzel को एक प्रतिस्पर्धा(Competition ) की तरह solve करने में लग जाते हैं, इस प्रक्रिया में उन्हें कुछ जटिल(complex) problem solve करनी होती है Ex-:
  • Transaction को Verify करना.
    • क्या भेजने वाले के पास Bitcoins भेजने के अधिकार हैं  आदि .
    Ghar Baithe Paise Kamane Ke 20 Tarike.

    इस गणितीय पहेली को solve करने के बाद Transaction को approvel मिल जाता है और इसे एक Block में Add कर दिया जाता है. Block सभी approved Transaction की एक chain होती है.

    अब आप सोच रहे होंगे की ऐसा करने से Miner को क्या फायदा होगा ?
    इस पूरी प्रक्रिया के solve हो जाने पर Bitcoin की एक नयी Unit उत्पन्न होती है और जो भी Miner इस प्रक्रिया को सबसे पहले solve करता है उसे Bitcoin की नयी Unit इनाम के तौर पर मिल जाती है .

    Online Business karke Internet Se Paise Kamaye.

    #7. क्या बिटकॉइन वैध(legal ) है ?

    अगर देखा जाये तो बिटकॉइन एक Gray Area के अन्तर्गत आता है ,इसका मतलब है की ना ही ये Legal(वैध ) है और न ही Illegal(अवैध ) है. बहुत से देशो में बिटकॉइन पर प्रतिबन्ध है लेकिंग US, Japan जेसे देशो में यह पूरी तरह से वैध है.अगर बात की जाये India की तो यहाँ पर भी आप बिटकॉइन का Use कर सकते हैं लेकिन अपने Risk और ज़िम्मेदारी  पर , क्यूकि भारत सरकार ने स्पस्ट रूप से कहा है कि यदि कोई भी नागरिक बिटकॉइन से किसी भी प्रकार का लेन देन करता है तो वो अपने खुद के Risk पर ही करे और किसी भी प्रकार के नुक्सान के लिए सरकार जिम्मेदार नहीं होगी

    #8. Other Important Informations About Bitcoin(Bitcoins के बारे में कुछ जरूरी जानकारी )

    • Bitcoins के Network को कुछ इस तरह से बनाया गया है की 21Million से ज्यादा bitcoins Issueनहीं किये जा सकते .
    • इसे BTC या Cryptocurrency भी कहते हैं.
    • Blockchain Technology का उपयोग बिटकॉइन से हुए सभी Transaction को record और verify करने के लिए किया जाता है .
    • Blockchain Technology किसी भी Transaction के Record को Delete होने से बचाती है और सुरक्षित रखती है.
    • Bitcoins किसी सरकार और bank के अधीन नहीं आते हैं.

    #.निष्कर्ष 

    मुझे उम्मीद है की अब आपको समझ आ गया होगा की बिटकॉइन क्या है और बिटकॉइन कैसे काम करता है.अगर आप भी Bitcoin में निवेश(invest) करना चाहते हैं तो सबसे पहले इसके बारे में अच्छी तरह से जानकारी प्राप्त कर ले तभी इसमें निवेश करने की सोचे.अगर आपको हमारी ये पोस्ट पसंद आई हो तो इसे share जरूर कीजियेगा.

    2 comments

    Nice information
    check it for more : http://www.share2think.com/2018/01/bitcoin-me-invest-karke-paise-kaise-kamaye-hindi.html


    EmoticonEmoticon